Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

23 फरवरी को रांची में होगा ‘फिट इंडिया रन-ओ-थोन’ का पांचवां संस्करण, पहली बार रेस टैगिंग एवं आरएफडी चिप का होगा इस्तेमाल

0 68

- Sponsored -

- sponsored -

रांची : आगामी 23 फरवरी को राजधानी के मोरहाबादी मैदान में ‘फिट इंडिया रन-ओ-थोन- रन टू इंस्पायर’ मैराथन कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। यह कार्यक्रम सुबह 5:30 बजे से मोरहाबादी स्थित गांधी प्रतिमा के सामने से शुरु होगी। इस कार्यक्रम के माध्यम से खिलाड़ियों को मंच उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है।

फिट इंडिया मैराथन में कुल 5 श्रेणियों में प्रतिस्पर्धा का आयोजन किया जायेगा। 21 किलोमीटर की प्रतिस्पर्धा दो श्रेणियों में बंटी है। पहली श्रेणी में गैर भारतीय पुरुष एवं महिलाएं हिस्सा ले सकते हैं, जिसकी अधिकतम पुरस्कार राशि एक लाख रूपए है। वहीँ दूसरी श्रेणी में भारतीय महिला एवं पुरुष भाग ले सकते हैं, जिसमें प्रथम स्थान पर आने वाली प्रतिभागी को 1.5 लाख रूपए की पुरस्कार राशि दी जायेगी। इसके अलावा 55 वर्ष से ऊपर के महिला एवं पुरुष 10 किलोमीटर श्रेणी में भाग ले सकते हैं। वहीँ 14 वर्ष से नीचे भारतीय बालक एवं बालिका 10 किलोमीटर श्रेणी में भाग ले सकते हैं। अधिकतम जानकारी और रजिस्ट्रेशन के लिए www.ranchimarathon.com पर लॉग इन कर सकते हैं। इसके अलावा इच्छुक प्रतिभागी 9885000685 पर कॉल कर के भी अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

- Sponsored -

रेस में “रेस टैगिंग” एवं “आरएफडी चिप” का होगा इस्तेमाल

मनप्रीत सिंह ने बताया कि यह “FIT INDIA RAN-O-THON” का पाँचवां संस्करण है इसके पहले प्रथम संस्करण में 5795, द्वितीय संस्करण में 6657, तृतीय संस्करण में 7221 एवं चौथे संस्करण में 8254 प्रतिभागियों ने भाग लिया था जिसमें भारत के बाहर से भी प्रतिभागियों ने भाग लिया था। उन्होंने बताया कि इस प्रतिस्पर्धा में 21 कि. मी. के दौड़ का आरंभ मोरहाबादी से होकर लौ कॉलेज से होकर वापस मोरहाबादी में समापन होगा। वहीं 10 कि.मी. दौड़ का आरंभ मोरहाबादी से होकर चांदनी चौक से होकर वापस मोरहाबादी में समापन होगा। इसके अलावा 5 कि.मी. दौड़ का आरंभ मोरहाबादी से होकर प्रेमसन्स मोटर से होकर वापस मोरहाबादी में समापन होगा। उन्होंने बताया कि दौड़ में भग ले रहे प्रतिभागियों के लिये एमबूलेंस, चिकितसकिय सहायक सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। साथ ही इस रेस में “रेस टैगिंग” एवं “आरएफडी चिप” का इस्तेमाल किया जायेगा।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored