Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

झारखंड की महिला हॉकी टीम ने छत्तीसगढ़ को 7-1 गोल से पराजित किया

0 116

- Sponsored -

- sponsored -

रांची: झारखण्ड की महिला हॉकी टीम ने छत्तीसगढ़ टीम को राष्ट्रीय महिला हॉकी चैंपियनशिप में 7-1 गोल से पराजित किया। 31 जनवरी से 10 फ़रवरी तक केरल के कोल्लम में चलने वाले इस टूर्नामेंट में झारखंड की टीम ने 1 फरवरी को यह कारनामा किया।

झारखंड की ओर से ब्यूटी डुंगडुंग ने तीसरे मिनट में ही पेनाल्टी कार्नर से ही गोल कर विपक्षी टीम को बैकफूट पर ला दिया। इसके बाद उन्होंने 39वें मिनट में भी एक और गोल किया। टीम की ओर से खेल रही संगीता कुमारी और रेशमा सोरेंग ने दो-दो गोल किये, वहीँ रजनी केरकेट्टा ने 56वे मिनट में एक गोल की। इसके उलट छत्तीसगढ़ की टीम ने एकमात्र गोल 36वें मिनट में किया। इस गोल को अंजली महतो ने किया।

झारखण्ड की टीम में अजंली बिंझिया,नॉमिता खलखो,दिपत्ति टोप्पो,रोपनी कुमारी,दिपत्ति कुल्लू,सुभाषी हेमरोम(कप्तान),रजनी केरकेट्टा, अलबेला रानी टोप्पो,प्रीति मिज,निक्की कुल्लू,सम्मी बड़ा,संगीता कुमारी,दिब्या डुंगडुंग,मरियम सोरेंग,महिमा टेटे,व्यूटी डुंगडुंग,रेशमा सोरेंग,माधुरी मिंज-कोच तारिणी कुमारी तथा मैनेजर अनिता होरो शामिल है।

- Sponsored -

टीम की विजयी होने पर हॉकी झारखंड के अध्यक्ष भोलानाथ सिंह, विजय शंकर सिंह, आश्रिता लकड़ा, असुंता लकड़ा समेत कई पदाधिकारियों ने बधाई दी है।

झारखंड की सीनियर महिला खिलाड़ियों का पलायन जारी, पर ऐसा कब तक?

टीम की जीत को लेकर भले ही बधाइयों का ताँता लगा हो, लेकिन वास्तव में जमीनी हकीकत कुछ और ही है। झारखंड के सुदूरवर्ती इलाकों से निकलकर आये कई सीनियर खिलाडी दूसरे जगहों पर पलायन कर रहे हैं। सरकार द्वारा खिलाड़ियों को नौकरी ना मिलने पर वे अन्य जगहों पर चले जा रहे हैं। आलम यह है कि कोल्लम में चल रहे सीनियर नेशनल हॉकी टूर्नामेंट में झारखंड की तरफ से मात्र चार खिलाड़ी ही ऐसे हैं, जिनकी उम्र 20 वर्ष से अधिक है। इसके अलावा टीम में बाकी खिलाड़ी जूनियर एवं सब-जूनियर केटेगरी के हैं। जबकि इसी प्रतियोगिता में खेल रही अन्य टीमों में सीआरपीएफ़ की टीम के 08 खिलाडी, सीमा शसस्त्र बल की टीम के 06 खिलाडी एवम  भारतीय खेल प्राधिकरण की टीम के 08 खिलाडी एवं मध्य्प्रदेश हॉकी अकादमी की टीम के 01 खिलाडी झारखण्ड से आती हैं।

आने वाले मैचों में झारखंड की टीम का मुकाबला अपनी ही बहनों से सजी टीमों के साथ है। झारखंड की टीम के 12 से 15 खिलाडी रांची रेलवे में कार्यरत है, लेकिन इसका फायदा झारखंड को नही मिल पा रहा है। कुछ दिनों पूर्व हुए खेलो इंडिया यूथ गेम्स U21 में महिला रांची रेलवे में कार्यरत झारखण्ड टीम की सूची में शामिल अलका डुंगडुंग को रेलवे से परमिशन नही मिला और वो खेलने से वंचित रह गयी। नतीजतन झारखंड की टीम को हरियाणा के हाथों फाइनल में मैच गंवानी पड़ी।

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -