Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

रांची के मोरहाबादी मैदान में लगी इंडिया इंटरनेशनल मेगा ट्रेड फेयर, 400 से अधिक देशी-विदेशी स्टालें

भारी संख्या में पहुँच रहे हैं लोग

0 117

- Sponsored -

- sponsored -

रांची: राजधानी के मोरहाबादी मैदान में झारखंड चैम्बर और जेओसीसी की ओर से लगाये गये इंडिया इंटरनेशनल मेगा ट्रेड फेयर बीते दिनों में भीड़ बढ़ी है। बढ़ते भीड़ के कारण दोपहर के 12 बजे से शाम 8 बजे तक चलने वाले ट्रेड फेयर के समय को एक घंटे बढ़ा दी गयी। रविवार को मेले को 10 बजे तक खुला रखना पड़ा था, क्योंकि इस दिन पचास हज़ार से ज्यादा लोगों ने मेले में एंट्री की थी। ट्रेड फेयर में एंट्री के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड में 30 रूपए टिकट की मूल्य है।

जीएस मार्केटिंग के अरिंदम ने बताया कि इस फेयर में सभी वर्ग के लोगों के लिए चीजें उपलब्ध हैं। साथ ही यह भी बताया कि रियल इस्टेट, फर्नीचर, इलेक्ट्रिकल्स एंड इलेक्ट्राॅनिक, ऑटोमोबाइल, फर्नीचर, उद्योग, होम डेकोर सहित विभिन्न उत्पादों के स्टाल्स लगी हुई हैं। इन स्टालों पर लोगों की लम्बी- लम्बी कतारें लग रही हैं। रियल इस्टेट के स्टॉलों में घर-जमीन की विस्तृत जानकारी और बुकिंग जहां जोर-शोर से हो रही है, वहीँ इलेक्ट्रॉनिक्स सामानों की भी काफी डिमांड देखी जा रही है। इसके अलावा देश के चुनिन्दा शहरों के डिज़ाइनर और ट्रेडिशनल कपड़ों की भी काफी मांग है।

- Sponsored -

वहीँ अगर विदेशी स्टालों के बारे में बात की जाए तो इस फेयर में तक़रीबन 50 विदेशी स्टाल हैं। जिसमें मुख्य रूप से अफ़ग़ानिस्तान, ईरान, पाकिस्तान, दुबई और थाईलैंड के स्टाल आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। ईरान के ओरिजिनल केसर, ड्राईफ्रूट, चॉकलेट और मिठाइयों को लोग खूब लुत्फ़ उठा रहे हैं, वहीँ पाकिस्तान के सलवार सूट को भी खूब पसंद किया जा रहा है। वहीँ बांग्लादेश की जामदानी साड़ियाँ और अफ़ग़ानिस्तान के पठानी सूट की भी खूब बिक्री हो रही है। वहीँ थाईलैंड और दुबई के ड्रेसों की भी खूूब मांग है।

इन सब चीजों के अलावा सेमीनार का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें बिजनेस से लेकर स्टार्टअप के लिए आईडिया और टिप्स दिया जा रहा है। वहीँ बच्चों के लिए किड्स जोन बनाई गयी है। वहीँ खाने-पीने को लेकर उत्तर और दक्षिण भारतीय व्यंजनों के स्टाल लगाए गये हैं।

इस फेयर में झारखंड, गुजरात, मध्य प्रदेश, पंजाब, दिल्ली, उत्तराखंड, हरियाणा, पश्चिम बंगाल सहित 12 राज्यों एवं विदेशी स्टाल लगाए गए हैं। इनकी संख्या 400 के करीब है। विदेशी स्टालों की संख्या 50 से अधिक है। वहीँ  60 स्टॉल राज्य सरकारों के हैं। जीएसटी विभाग के 10, तो आयकर विभाग के 10 स्टॉल लगाए गए है। साथ ही गोल्ड मेडल इलेक्ट्रिकल के 8 स्टॉल हैं। इस मेले के आयोजन में क्रेडाई और जेटा मुख्य पार्टनर हैं। 

 

 

 

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -