Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

गैंग के चंगुल में फंसा शख़्स, फिरौती के बावजूद हो गई हत्या

टॉवर लाइन में काम करने के बहाने ले जाया गया था हज़ारीबाग़

0 197

डुमरी(गिरिडीह)। जिले के डुमरी थाना क्षेत्र के खेजगड़ी के एक शख्स की बेरहमी से हत्या कर दिए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। शख़्स का शव हज़ारीबाग़ जिले के विष्णुगढ़ थाना क्षेत्र के पालमो जंगल से मिला है।

दरअसल वारदात की शुरुआत होती है डुमरी से यहाँ थाना क्षेत्र के खेचगड़ी के रहने वाला अजय कुमार महतो को उसी गांव का रमेश हेम्ब्रम टॉवर लाइन में काम कराने के लिए लेबर की खोज के बहाने 22 दिसम्बर को उसे विष्णुगढ़ ले गया। जहां वह अपराधियों के गैंग में फंस गया। उसके बाद अजय ने 23 दिसम्बर को फोन पर अपने घरवालों को अपहरण की सूचना दी। वहीं अपने छूटने के एवज में ढाई लाख मांग की बात बताई।

परिजनों की माने तो रुपयों का जुगाड़ कर परिजन अपराधियों के बताए जगह पर पहुंचे और रुपया दे दिया। इसी दौरान अपराधियों द्वारा अजय के नहीं छोड़ने पर परिजनों से कहासुनी हुई। मौके से अपराधी बाइक छोड़ वहां से भाग निकले। फिर परिजन ने विष्णुगढ़ थाना पुलिस को मामले की सूचना दी।

जिसके बाद पुलिस ने अपराधियों द्वारा छोड़े गए बाइक के आधार पर एक व्यक्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू किया तो मामले से पर्दा उठ गया। अपराधियों ने तेज़ हथियार से वार कर उसकी हत्या कर शव को पालमो जंगल में फेंक दिया था। जिसके बाद बुधवार की रात जंगल से अजय का शव बरामद हुआ।

गुरुवार को परिजन शव लेकर गांव पहुंचे तो ग्रामीणों में गम और गुस्से का माहौल था। ग्रामीण अजय को ले जाने वाले आरोपी रमेश के घर पहुंचे और परिजनों के साथ मारपीट शुरू कर दी। सूचना पर डुमरी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी के परिजनों को हिरासत में थाने ले जाकर पूछताछ कर रही है। वहीं शव को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया ।

दोषियों को मिलेगी सजा : विधायक

घटना की सूचना पर डुमरी विधायक जगरनाथ महतो, जिला परिषद अध्यक्ष राकेश महतो खेचगड़ी पहुंचे और परिजनों का ढाढ़स बंधाया। वहीं विधायक व जिप अध्यक्ष ने आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर वरीय पुलिस अधिकारियों से बातचीत की है। विधायक ने घटना पर दुःख जताते हुए कहा कि विष्णुगढ़ थाने में कुछ आरोपी पकड़े गए हैं। दोषियों को सजा मिलेगी।

पहले से सक्रिय है गिरोह

 

स्थानीय ग्रामीणों की माने तो पहली घटना नहीं है। एक गिरोह सक्रिय होकर पहले भी कई वारदात को अंजाम दे चुका है। गिरोह को लेकर पुलिस से कई बार शिकायत भी की गई है। मगर अब तक डुमरी पुलिस के हाथ खाली हैं। बता दें कि इस वारदात में कई लोगों के शामिल होने की आशंका है। फिलहाल डुमरी थाना पुलिस ने इस मामले में कुछ भी से इंकार कर दिया है।  पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही इसका खुलासा किया जाएगा।