Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

काशी विश्वनाथ मंदिर में अब लागू होगा ड्रेस कोड, जिंस और टाॅप वालों को नो एंट्री

0 45

- Sponsored -

- sponsored -

वाराणसी : काशी विश्वनाथ मंदिर में अब श्रद्धालुओं के लिए ड्रेस कोड लागू होगा. ऐसे में अब जिंस-टी शर्ट और टाॅप-स्कर्ट जैसे ड्रेस पहन कर मंदिर में प्रवेश नहीं किया जा सकेगा. नये नियम के अनुसार, अब मंदिर में प्रवेश करने वाले पुरुष सदस्यों को धोती-कुर्ता एवं महिला श्रद्धालुओं को साड़ी पहनना होगा.

- Sponsored -

जिंस-शर्ट व अन्य आधुनिक ड्रेस पहन कर अब श्रद्धालु मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश नहीं कर सकेंगे. उन्हें दूर से दर्शन करना होगा. काशी विश्वनाथ 12 ज्योर्तिलिंगों में एक है और देश-दुनिया में इसकी प्रसिद्धि है. यहां देश के कोने-कोने से बड़ी संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं. गैर सनातनियों का मंदिर के अंदर प्रवेश पहले से ही वर्जित है.

यूं तो इस मंदिर का इतिहास बहुत पुराना है, लेकिन इसका पुनरुद्धार मराठा साम्राज्य की महारानी अहिल्या बाई होल्कर ने 1780 ईस्वी में करवाया था. मुख्य मंदिर का इतिहास 2000 साल पुराना है, जिसे कुतुबुददीन एबक ने नष्ट करवाया और यहां 1585 ईस्वी में मसजिद का निर्माण करवाया गया. टोडर मल ने मंदिर का पुनर्निमाण करवाया, लेकिन औरंगजेब ने 1669 ईस्वी में इसे फिर नष्ट करवा दिया और वहां पर मसजिद का निर्माण करवाया.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -